Posts

Couplet 4

-----------------------------
धुप और गर्मी है बहुत लोग है कहते
पर न जाने क्यों इनके दिल नहीं पिघलते

---------------------------------

एक दिन मेरे हाल पे एक शख्स फूट फूट के रोया
खूब चाहा रोकना उसे, पर आईने के उस तरफ उसे खोया
--------------------------------- खरीदना चाहो तो सच्चाई का भी दाम होता है यहाँ तो जनाज़े में कंधा भी किराए पर मिलता है ----------------------------------











Couplet 3

--------------------- ज़िंदगी की अजब सी उलझन सुलझा रहा हूँ या तो ख्वाहिशें दफन करु या चादर ओढ़ लू ---------------------- गर दिया जलाता हूँ तो अंधेरेको नाराज़ करता हूँ ये वक़्त ही ऐसा है के हकीकत पर भी शक करता हूँ

Couplet 2

-------------------- ग़ैरोंके पैरोंसे भी दौड़ में जीत जाते है लोग यहाँ तो उधार के पैरों से भी कद बढ़ा लेते हैं लोग ----------------------- अक्सर दूसरोंकी कमिया निकालते हैं लोग क्या कभी आईना भी देखते हैं लोग? ---------------------- कामयाबी को अक्सर सुकून मानकर चलते है लोग सुकून में कामयाबी ढूँढ़नेवालोंको नाकाम कहते है लोग ------------------------ ना जाने कैसे मुझे इतनी जल्दी पढ़ लेते हैं लोग जो मैंने लिखा ही नहीं वो भी जानते है लोग

Couplet 1

ख़्वाहिशों के बोझ लिए इतना दब गया हूँ जितना जिया भी नहीं मैं उतना थक गया हूँ ------------------- सब तो कामयाबी को सुकून मानकर चलते गए और हम सुकून को कामयाबी समझते रह गए

Mere Liye kya Ho Tum

कैसेकहुँमेरेलिएक्याहोतूम मेरेलिएतोसबाहोतुम छाओभीतूम … धूपभीतुम मेरीतमन्नाओँकातोरूपभीतूम रास्ताभीतूममंज़िलभीतूम इस

Do Naino Mein Aansu Bhare Hai

Image
Do Naino Mein Aansu Bhare Hai


This time I’ll start with the credits- Movie : Khushboo
Singer : Lata Mangeshkar
Music : R D Burman
Lyricist : Gulzar

Put the credits in any order and yet it still remains a master piece. The deep meaning in Gulzar’s metaphor’s, RD’s equally soothing music (and its absence in the film version) and Lata’s vocals. Just close your eyes and enjoy pure bliss. RD had used Asha’s vocals for the other two songs – Ghar Jaayegi and Bechara DilKya Kare. But these were the चुलबुली kind of songs. Do Naino Mein was the in RD’s word’s , “दीदीवालागानाहै”.
Before that some trivia. This song was first made in Bengali as a Pooja song- Tomate AmateDekha Hoyechhilo, Janina Kobe Kothaye (You and I had met sometime, don’t remember when and where). This was written by Swapan Chakraborty and is from the Puja album Phire Eso Anuradha (1974). This is the original of Do Naino Mein and is a mix of Raag Bageshri and Shivranjani. This song too is set in a sad mood, but the way RD has sung …

बस अब तो आ जाना तुम

आंखें मेरी आज भी तेरी आवाजों के साये तलाशती है लब मेरे आज भी तेरे होटोंकी खुशबू के लिए तरसते हैं

मैं .... आज भी तुम्हारी वो मुस्कान सुन लेता हूँ तुम्हारी सांसोंकी गरमी आज भी 
अपने सीने पर महसूस कर लेता हूँ

यूँही टूटी नींद से जागे लम्होंको आज भी लोरी सुनाकर सुला देता हूँ
आज भी एहसास बयाँ करने लफ्जोंको टटोलता हूँ

बहुत सारी बातें हैं
सोचू .... तो पल्कोंसे कई यादें बह जाती हैं

आज फिर से उन जेवरोंको को सजाए रखा है बहुत सारी सुबहों को सींचे रखा है
जो पसंद आये रख लेना तुम
बस अब तो आ जाना तुम